मियां शेख चिल्ली चले लकड़ीयां काटनें – hindi story

puranikahani.in
मियां शेख चिल्ली चले लकड़ीयां काटनें – hindi story

मियां शेख चिल्ली चले लकड़ीयां काटनें – hindi story

एक बार मियां शेख चिल्ली जंगल में अपने दोस्त के साथ लकड़ी काटने गए थे। एक बड़ा पेड़ देखकर, दोनों दोस्त लकड़ी काटने के लिए उस पर चढ़ गए। मियां शेख चिल्ली ने अब अपनी सोच के घोड़े चलाने के लिए लकड़ी काटना शुरू कर दिया। उसने सोचा कि मैं इस जंगल से बहुत सारी लकड़ी काटूंगा। मैं उन लकड़ी को अच्छे दामों में बाजार में बेचूंगा। इस तरह, मैं बहुत सारा पैसा हासिल करूंगा।

इस काम से मैं कुछ ही समय में अमीर बन जाऊंगा। फिर मैं लकड़ी काटने के लिए बहुत सारे नौकर रखूँगा। मैं कटे हुए लकड़ी के साथ फर्नीचर का व्यवसाय शुरू करूंगा। कुछ दिनों में मैं इतना समृद्ध व्यापारी बन जाऊंगा कि शहर का राजा खुद मेरे सामने राजकुमारी से शादी करने के लिए सहमत हो जाएगा।

शादी के बाद हम टहलने जाएंगे और एक खूबसूरत बगीचे में राजकुमारी अपना हाथ मेरी ओर बढ़ाएगी…। विचार में, खोया मियां शेख चिल्ली, ऐसा सोचते हुए, पेड़ को छोड़ देता है और वास्तव में राजकुमारी का हाथ पकड़ने के लिए अपने हाथों को हिलाना शुरू कर देता है … फिर अचानक उसका संतुलन गड़बड़ा जाता है और वह जमीन पर गिर जाता है। ऊंचाई से गिरने पर मियां शेख चिल्ली का पैर फ्रैक्चर हो जाता है। और साथ ही, उनके बिना, सिर और पैर के बिना सपने भी टूट जाते हैं।

ENGLISH

Once Mian Sheikh Chilli went to cut wood with his friend in the forest. Seeing a big tree, the two friends climbed on it to cut wood. Mian Sheikh Chilli now started chopping wood to run horses of his thinking. He thought that I would cut a lot of wood from this forest. I will sell those wood in the market at good prices. In this way, I will gain a lot of money.

With this work I will become rich in no time. Then I will keep a lot of servants to cut wood. I will start the business of furniture with cut wood. In a few days I will become such a prosperous businessman that the king of the city will himself agree to marry the princess in front of me.

After marriage we will go for a walk and in a beautiful garden the princess will extend her hand towards me…. In the thought, lost Mian Sheikh Chilli, while thinking so, leaves the tree and starts moving his hands to actually hold the hand of the princess… Then suddenly his balance gets disturbed and he falls down on the ground. Mian Sheikh Chilli’s leg fractures when falling from a height. And at the same time, without them, the dream dreams without head and foot are also broken.

READ ALSO

मियां शेख चिल्ली चले चोरों के संग “चोरी करने”

शेख चिल्ली की “चिट्ठी” – hindi story

पुरस्कार एवं दंड – Tenali Rama Story