खंडर का रहस्य | Haunted Story in Hindi | Bhoot Ki kahani | Hindi kahaniyan | Latest stories | puranikahani.in

puranikahani.in

खंडर का रहस्य | Haunted Story in Hindi

खंडर का रहस्य | Haunted Story in Hindi – कभी यह स्थान खूबसूरत हुआ करता था. और आज यह स्थान एक खंडार के अलावा और कुछ भी नहीं है। पहले के लोग कहते है कि। कभी यहां पर राजा विक्रम सिंह का किला हुआ करता था. और विक्रम सिंह अपनी प्रजा के साथ और अपने परिवार के साथ यहां पर राज्य किया करते थे। आपने सुना ही होगा राजस्थान में मानगढ़ का नाम। लोग कहते हैं कि दुनिया में 10 या 15 जगह ऐसी है।

खंडर का रहस्य – खंडर का रहस्य | Haunted Story in Hindi

जिसे लोग भूतियां के नाम से जानते हैं। इसमें से 3-4 जगह यही जयपुर में ही है. और आपने येभी सुना होगा कि वहां अभी भी जाने से लोग बहुत डरते हैं। एक बार की बात है। करीब 30 साल पुरानी जब वहां पर दूसरे राजा ने हमला कर दिया था.

और वह राज्य जीत लिया था। तब वहां की औरतों के साथ दुर्व्यवहार करने की कोशिश की थी. और वहां के राजा विक्रम सिंह ने लड़ते-लड़ते अपनी जान गवा दी. और उस राजा को भी मार डाला।

Haunted Story

तब से आज भी कोई रात के बाद वहां पर नहीं जाता। यहां तक की लोगों को लगता है कि रात में कोई महफिल सजी है और जोर-जोर से घुंघरू बजने की आवाज भी आती है। कई लोग तो यह भी कहते हैं कि राजा विक्रम सिंह आज भी वहां रातों को आते हैं और अपनी रानियों के साथ बैठकर नृत्यकियो के नाच देखा करते हैं।

वहां के लोग भूलकर भी उस खंडहर के पास दिन में भी नहीं जाते। क्योंकि कोई बोलता है कि कभी-कभी वहां पर औरत या फिर कोई पुरुष दिखाई देता है।

जो रात को या फिर दिन में भी रखवाली करता है। आज भी वहां पर दिन ढलने के बाद लोगों का उधर से आना-जाना बंद हो जाता है। सब लोग सोचते ही थे। तब वहां पर कुछ पत्रकार लोग पहुंचे। उन लोगों के साथ भी कुछ अजीबोगरीब घटना घटी।

Story in Hindi – खंडर का रहस्य | Haunted Story in Hindi

उनके एक साथी को वहीं पर अटैक आ गया. और वह बेचारा वहीं पर दम तोड़ दिया। बाकी बचे जीतने पत्रकार थे। वह लोग अपनी जान बचाकर वहां से चले गए. और आज तक वहां पर कोई नहीं गया।

क्योंकि अब सबको पता चल गया कि राजा विक्रम सिंह आज भी वहां पर अपनी प्रजा के साथ आते हैं. और पूरा खंडार महल में बदल जाता है। ताकि वह विक्रम सिंह वहाँ पर आनंद की अनुभूति कर सकें और आज भी वह सुनसान ही पड़ा है।

वहां आम का महुआ का और जामुन का पेड़ भी है। सब ने अपने दिल पर पत्थर रख लिया और बोला कि ना तो वहां कोई जाएगा. और ना ही वहां का कोई फल खाएगा। क्योंकि कुछ कहा नहीं जा सकता कि किसको कब क्या हो जाए।

READ ALSO :-

जुड़वा भाई | Inspirational stories for kids

गधे का रास्ता | Story For Children in Hindi